Class 6 Hindi Chapter 10 बाघ और बटोही

Class 6 Hindi Chapter 10 बाघ और बटोही The answer to each chapter is provided in the list so that you can easily browse throughout different chapters SEBA Class 6th Hindi Chapter 10 बाघ और बटोही and select need one.

Class 6 Hindi Chapter 10 बाघ और बटोही

Join Telegram channel

Also, you can read the SCERT book online in these sections Solutions by Expert Teachers as per SCERT (CBSE) Book guidelines. These solutions are part of SCERT All Subject Solutions. Here we have given Assam Board Class 6 Hindi Chapter 10 बाघ और बटोही Solutions for All Subject, You can practice these here…

बाघ और बटोही

पाठ -10

HINDI

अभ्यास-माला

1. “बाघ और बटोही” कहानी को अपने शब्दों में बताओ।

उत्तर : एक बूढ़ा बाघ था। वह बुढ़ापे के कारण शिकार नहीं कर पाता था। एक दिन दलदल वाले तालाब के पास उसने सोने का कंगन देखा। कंगन को उसने उठा लिया और सोचने लगा कि कोई इधर आए तो उसे कंगन का लालच देकर फंसाऊँगा। थोड़ी देर में तालाब के दूसरे किनारे पर एक बटोही आया। बाघ ने बटोही को देखा। वह जानता था कि आदमी को सोना प्रिय होता है। बाघ ने बटोही को सोने का कंगन दिखाते हुए कहा “यह सोने का कंगन ले लो, मेरे काम का नहीं है।”

परंतु बटोही का बुढ़ेबाघ पर विश्वास नहीं होता। वह जानता है कि वाघ हिसंक जानवर है। वह बाघ फिर अपनी ओर से सफाई देते हुए कहता है कि उसने जीवन में बहुत पाप किए है। किन्तु अब एक संन्यासी की सीख से वह बदल गया है।

बटोही पर सोने का लालच ऐसा सवार हुआ कि वह बाघ का डर भूल गया और तालाब के उस पार जाकर कंगन लेना चाहा। उसने तालाब में दो-चार कदम ही रखे थे। कि दलदल में फँस गया। दलदल में फँसे बटोही को देखकर वाघ भयंकर मुद्रा में आता है और उसपर आक्रमण कर देता है।बटोही लालच में पड़कर विवेक त्याग दिया और जान गँवा दी।

2. प्रस्तुत चित्रकथा ‘बाघ और बटोही’ से हमें क्या सीख मिलती है ?

उत्तर : प्रस्तुत चित्रकथा ‘बाघ और बटोही’ से हमें यह सीख मिलती है कि हर परिस्थिति में विवेक से काम लें और लालच न करें।

3. उत्तर लिखो : 

(क) बूढ़े बाघ ने क्या तरकीब सोची ?

उत्तर : बूढ़ा बाघ को जब सोने का कंगन मिला, तब उसने कंगन का लालच देकर किसी को फँसाने की तरकीब सोची।

(ख) बाघ ने किसका लालच देकर बटोही को तालाब में फँसाया ?

उत्तर : बाघ ने सोने के कंगन का लालच देकर बटोही को तालाब में फँसाया।

(ग) बाघ की बातें सुनकर बटोही ने क्या किया ?

उत्तर : बाघ की बातें सुनकर बटोही ने तालाब में उतरा।

(घ) तालाब में उतरते ही बटोही का क्या हाल हुआ ?

उत्तर : तालाब में उतरते ही बटोही दलदल में फँस गया।

(ङ) आखिरकार बाघ ने बटोही का क्या हाल किया ?

उत्तर : आखिरकार बाघ ने बटोही पर आक्रमण कर दिया।

4. आओ, समूह में बैठकर वाक्य बनाने का खेल खेलें। 

घड़ी, किताब, गाय मकान, कलम, बहन

उत्तर : घड़ी :- मेरे पास एक घड़ी है।

                    मेरी घड़ी सुनहली है। 

                    उसके पास दो घड़ियाँ है।

किताब :- मेरी हिंदी किताब सुंदर है। 

              किताब पढ़ने से ज्ञान मिलता है।

              मैं किताब पढ़ता हूँ। 

गाय :- गाय एक पालतु जानवर है।

          गाय दूध देती है।

          मेरे घर में एक गाय है। 

मकान :- हम मकान में रहते है।

             शहर में बड़े-बड़े मकान होते है।

             मकान किराया पर भी मिलता है।

कलम :- हम कलम से लिखते है। :

            मेरे पास एक नीली कलम है। 

            गुरुजी के पास लाल कलम है।

बहन :- मेरी एक छोटी बहन है।

          मेरी बहन पहली श्रेणी में पढ़ती है।

          मेरी बहन की सहेली अनुष्का है।

Sl. No.Contents
Chapter 1हम होंगे कामयाब
Chapter 2स्वर – माला
Chapter 3धैर्य का पाठ ( जातक कथा)
Chapter 4घरती माता का पत्र
Chapter 5लोकप्रिय गोपीनाथ बरदलै
Chapter 6आओ गिनती करें
Chapter 7गाँव की सैर
Chapter 8हिंद देश के निवासी
Chapter 9चलो तेजपुर चलें
Chapter 10बाघ और बटोही
Chapter 11प्रकृति का संदेश
Chapter 12अभ्यास की महिमा
Chapter 13मन के जीते जीत
Chapter 14मैं सबसे छोटी होऊँ
Chapter 15होली आई रे
Chapter 16खेल और सेहत

5. इन्हें पढ़ो, समझो और लिखो :

उत्तर : (क) ष् + य = ष्य      मनुष्य      भविष्य       भाष्य

                 द् + ध = द्ध       प्रसिद्ध        वृद्धि          मद्धिम

                 द्+ य = द्य      विद्या        गद्दा          पद्य

                 ष+ट स्ट           कष्ट          स्पष्ट        नष्ठ

(ख) 

6. आओ, श्रुतलेख लिखे :

उत्तर : तुम्हारा संदेह ठीक ही है।

           मैंने जिंदगी में बहुत पाप किए है।

           पर अब एक संन्यासी की सीख से बदल गया हूँ।

           तुम आकर कंगन ले जाओ।

7. आओ, समान अर्थवाले शब्दों रेखा को खीचकर मिलाएँ।

(क) तालाबलोभ
(ख) आसमानपथिक
(ग) लालचसोना
(घ) स्वर्णगगन
(ङ) बटोहीपोखर

उत्तर : 

(क) तालाबपोखर
(ख) आसमानगगन
(ग) लालचलोभ
(घ) स्वर्णसोना
(ङ) बटोहीपथिक

8. निम्नलिखित संख्याओं को देखो और नीचे अक्षरों में लिखो :

उत्तर :  

१६१५२७२११४
सोलहपंद्रहसताईसइक्कीसचौदह

9. आओ, यह भी जानें :

उत्तर : आ → अमर इधर आ। तुम इधर आ । राधा आ

           ला → किताब ला। कापी ला। कलम ला ।

           जा→ उधर मत जा तू जा। सब मत जा।

           पढ़→ पाठ पढ़। सब साथ-साथ पढ़। कविता पढ़। 

10. आओ, पढ़े और समझे :

(क) हरि को बुलाओ।

(ख) गाय को घास खिलाओ।

(ग) प्यासे को पानी दो।

उपर्युक्त वाक्यों में रेखांकित को कर्म कारक का चिह्न है। इसी तरह तुम थी दो बाक्य बनओ।

उत्तर : (क) प्रार्थना सभा में सभी को बुलाओ। 

(ख) एक कविता शिक्षक को सुनाओ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top