Assam Jatiya Bidyalay Class 8 Hindi Chapter 6 असम के सांस्कृतिक जगत के साधक

Assam Jatiya Bidyalay Class 8 Hindi Chapter 6 असम के सांस्कृतिक जगत के साधक, Assam Jatiya Vidyalaya | অসম জাতীয় বিদ্যালয় Hindi Class 8 Question Answer to each chapter is provided in the list of SEBA so that you can easily browse through different chapters and select needs one. Assam Jatiya Bidyalay Chapter 6 असम के सांस्कृतिक जगत के साधक Class 8 Hindi Question Answer can be of great value to excel in the examination.

Join Telegram channel

Assam Jatiya Bidyalay Class 8 Hindi Chapter 6 असम के सांस्कृतिक जगत के साधक Notes covers all the exercise questions in Assam Jatiya Bidyalay SEBA Textbooks. The Assam Jatiya Bidyalay Class 8 Hindi Chapter 6 असम के सांस्कृतिक जगत के साधक provided here ensures a smooth and easy understanding of all the concepts. Understand the concepts behind every chapter and score well in the board exams.

शक्तिपीठ: कामाख्या

Chapter – 6

অসম জাতীয় বিদ্যালয়

EXERCISE QUESTION ANSWER

शब्दार्थ :

धुरंधरविख्यात
विभूतिप्रभुता, ऐश्वर्य
पुरीधापौरोहित्य
विरनदूर, निवृत
अक्षयजो क्षय न हो

प्रश्न – १ : सही उत्तर का चयन करो :

(क) ‘शोणित कुँवरी’ नाटक के नाटककार हैं–

(अ) ज्योतिप्रसाद आगरवाला

(आ) विष्णुप्रसाद राभा 

(इ) रजनीकान्त बरदलै

(ई) लक्ष्मीनाथ बेजबरूवा

उत्तर : (अ) ज्योतिप्रसाद आगरवाला l

(ख) प्रथम असमीया चलचित्र हैं–

(अ) लभिता

(आ) निमाती कड़ना

(इ) जयमती

(ई) राजा हरिश्चन्द्र

उत्तर : (इ) जयमती l

(ग) ‘शिल्पी दिवस’ किस महान व्यक्ति की स्मृति में मनाया जाता है ?

(अ) विष्णुप्रसाद राभा

(आ) ज्योतिप्रसाद आगरवाला शर्मा

(इ) अम्बिकागिरी रायचौधुरी 

(ई) फणी शर्मा

उत्तर : (आ) ज्योतिप्रसाद आगरवाला l

(घ) ‘कलागुरु के रूप में किसे ख्याति मिली ?

(अ) ज्योतिप्रसाद आगरवाला 

(आ) रघुनाथ चौधुरी

(इ) नवीनचन्द्र बरदलै

(ई) विष्णुप्रसाद राभा 

उत्तर : (ई) विष्णुप्रसाद राभा l

(ङ) ‘सुररे देउलरे’ किसका लोकप्रिय गीत है ?

(अ) विष्णुप्रसाद राभा

(आ) भूपेन हाजरिका

(इ) खगेन महंत

(ई) ज्योतिप्रसाद आगरवाला

उत्तर : (अ) विष्णुप्रसाद राभा l

(च) फणी शर्माजी की पहली बार किस फिल्म में देखा गया ?

(अ) जयमती

(आ) इन्द्रमालती

(इ) सिराज

(ई) एरा बाटर सुर

उत्तर : (अ) जयमती l

(छ) बाण रंग-मंच पर फणी शर्मा जी ने पहली बार किस नाटक में काम किया था ?

(अ) पियली फुकन

(आ) राणाप्रताप

(इ) अकबर

(ई) किय

उत्तर : (आ) राणाप्रताप l

(ज) फणी शर्माजी की अंतिम फिल्म थी–

(अ) इन्द्रमालती

(आ) कुँवर विद्रोह

(इ) इटो सिटो बहुतो

(ई) नाग-पांश

उत्तर : (इ) इटो सिटो बहुतो l

प्रश्न – २ : पूर्ण वाक्य में उत्तर दो :

(क) ज्योतिप्रसाद आगरवाला जी का जन्म कब और कहाँ हुआ था। 

उत्तर : ज्योतिप्रसाद आगरवाला जी का जन्म सन् 1903 ई. के 17 जून को डिब्रुगढ़ जिले के तामोलबारी चाय बागान में हुआ था। 

(ख) उनके माता-पिता कौन थे ?

उत्तर : उनके माता किरण्मयी देवी और पिता परमानंद आगरवाला थे।

(ग) ‘शोणित कुँवरी’ नाटक की रचना ज्योतिप्रसाद जी नें कब की थी ? 

उत्तर : तेजपुर विद्यालय में पढ़ते समय ही ज्योतिप्रसादजी ने ‘शोणित कुँवरी’ नाटक की रचना की थी।

(घ) ज्योतिप्रसाद जी ने चलचित्र संबंधी प्रशिक्षण कहाँ प्राप्त किया ?

उत्तर : ज्योतिप्रसाद जी ने चलचित्र संबंधी प्रशिक्षण बर्लिन (जर्मनी) में प्राप्त किया।

(ङ) बोम्बे टॉकिज के प्रतिष्ठाता कौन थे ? 

उत्तर : बोम्बे टॉकज के प्रतिष्ठाता हिंमाशु राय थे।

(च) प्रथम असमीया चलचित्र का नाम लिखो। इसके निर्माता कौन थे ? 

उत्तर : प्रथम असमीया चलचित्र का नाम है ‘ जयमती’। इसके निर्माता ज्योतिप्रसाद जी थे।

(छ) किस वर्ष ‘जयमती’ चलचित्र को लोगों के समक्ष उपस्थित किया गया ?

उत्तर : सन् 1936 ई. में ‘जयमती’ चलचित्र को लोगों के समक्ष उपस्थित किया गया। 

(ज) ज्योतिप्रसाद जी की किन्हीं दो विप्लवी कविताओं के नाम लिखो। 

उत्तर : ‘विश्व विजय नव जोवान’ और ‘कांचनजंघार बुरंजी ये दो कविता ज्योतिप्रसाद जी की विप्लवी कविता है।

(झ) ज्योतिप्रसाद जी द्वारा निर्मित दूसरी फिल्म कौन-सी है? इस किस वर्ष बनाया गया था।

उत्तर : ज्योतिप्रसाद जी द्वारा निर्मित दूसरी फिल्म ‘इन्द्रमालती’ हैं। इसे सन् 1937 ई. में बनाया गया था।

(ञ) ज्योतिप्रसाद जी का चार प्रसिद्ध नाटकों के नाम लिखो।

उत्तर : ज्योतिप्रसाद जी चार प्रसिद्ध नाटक हैं- शोणित कुवँरी, रूपालीम, लभिता, कारेडर लिगिरी।

(ट) ज्योतिप्रसाद जी की मृत्यु कब हुई ? उनकी मृत्यु दिवस को किस रूप में मनाया जाता है ?

उत्तर : ज्योतिप्रसाद जी की मृत्यु सन् 1952 ई. में के 17 जनवरी को हुई। उनकी मृत्यु दिवस को ‘शिल्पी दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।

(ठ) विष्णुप्रसाद राभाजी का जन्म कब और कहाँ हुआ ?

उत्तर : विष्णुप्रसाद राभाजी का जन्म सन् 1909 ई. के 31 जनवरी को बांग्लादेश के ढाका शहर में हुआ था।

(ड) सन् 1945 ई. में राभाजी किस दल के सदस्य बने ? 

उत्तर : सन् 1945 ई. में राभाजी भारत के क्रांतिकारी साम्यवादी दल के सदस्य बने।

(ढ) राभा जी के कुठ लोकप्रिय गीतों के नाम लिखो। 

उत्तर : राभा जी के लोकप्रिय गीत इस प्रकार हैं- ‘सुररे देउलरे’, ‘बिलते हालिछे’, ‘लगन उकलि ग’ल’, ‘रै रै केतेकी’।

(ण) भारत के स्वाधीनता संग्राम के दौरान राभा जी ने कौन सा नारा दिया था ?

उत्तर : भारत के स्वाधीनता संग्राम के दौरान राभा जी ने हाल जार माटि तार’ का नारा दिया था।

(त) ‘राभा दिवस’ कब मनाया जाता है ? और क्यों ?

उत्तर : ‘राभा दिवस’ 20 जून को मनाया जाता है, क्योंकि उसी दिन अनको मृत्यु हुयी थी। असम के सांस्कृतिक जगत में उनके योगदान के लिए उन्हें ‘कलागुरू’ कहा जाता है।

(थ) फणी शर्मा जी द्वारा अभिनीत तीन मशहूर फिल्मों के नाम लिखो। 

उत्तर : फणी शर्मा जी द्वारा अभिनीत तीन मशहूर फिल्म हैं- ‘जयमती’, ‘सिरज’, ‘पियली फुकन’ l

(द) बाण रंग-मंच पर पहली बार ‘राणा प्रताप’ नाटक में शर्मा जी ने किस चरित्र में अभिनय किया था ?

उत्तर : बाण रंग-मंच पर पहली बार ‘राणा प्रताप’ नाटक में शर्मा जी ने ‘अकबर’ के चरित्र में अभिनय किया था।

(ध) असम के प्रथम गतिशील नाट्य गोष्ठी कोहिनुर ऑपेरा की स्थापना किसने की थी ?’

उत्तर : असम के प्रथम गतिशील नाट्य गोष्ठी कोहिनुर ऑपेरा की स्थापना नाट्याचार्य ब्रजनाथ शर्मा जी ने की थी। 

(न) किसके सहयोग से ब्रजनाथ शर्मा ने अपने नाटकों में महिलाओं की अभिनय करने का मौका दिया था ?

उत्तर : फणी शर्मा जी के सहयोग से ब्रजनाथ शर्मा जी ने अपने नाटकों में महिलाओं को अभिनय करने का मौका दिया था। 

(प) ‘जयमती’ नाटक में फणी शर्मा जी ने किस चरित्र को निभाया ?

उत्तर : ‘जयमती’ नाटक में फणी शर्मा जी ने ‘गाठी हाजरिका’ के चरित्र को विभाग।

(फ) फणी शर्मा जी ने किस अंग्रेजी नाटक को असमीया में 

अनुदित किया था ?

उत्तर : फणी शर्मा जी ने, जे. बी. प्रिसली के प्रसिद्ध अंग्रेजी नाटक ‘एन इन्सपेक्टर कोल्स’ की असमीया में अनुदित किया था। 

प्रश्न- ३ खाली जगह भरो :

(क) ‘एरा बाटोर सुर’ फिल्म में ___जी ने अभिनय किया था ? 

उत्तर : ‘एरा बाटोर सुर’ फिल्म में बिष्णुप्रसाद जी ने अभिनय किया था।

(ख) अपने उल्लेखनीय योगदान के लिए ज्योतिप्रसाद आगरवाला जी को ___उपाधि से विभूषित किया गया।

उत्तर : अपने उल्लेखनीय योगदान के लिए ज्योतिप्रसाद आगरवाला जी की ‘रूपकॉवर’ उपाधि से विभूषित किया गया।

(ग) ज्योतिप्रसाद आगरवाला जी के नाटकों में ___धारा देखने को मिलती है।

उत्तर : ज्योतिप्रसाद आगरवाला जी के नाटकों में ‘यथार्थवादी’ धारा देखने को मिलती है।

(घ) ___और ____ज्योतिप्रसाद जी की शिशु उपयोगी नाटिकाएँ हैं। 

उत्तर : ‘सोण पखिली’ और ‘निमाती कड़ना’ ज्योतिप्रसाद जी की शिशु उपयोगी नाटिकाएँ हैं।

(ङ) बिष्णुप्रसाद राभा जी को उनके बहुमूल्य योगदान के लिए ___के रूप में ख्याति मिली। 

उत्तर : विष्णुप्रसाद राभा जी को उनके बहुमूल्य योगदान के लिए ‘कलागुरू’ के रूप में ख्याति मिली।

(च) ‘सिराज’ फिल्म की पटकथा देशप्राण ___जी की एक लोकप्रिय कहानी पर आधारित थी। 

उत्तर : ‘सिराज’ फिल्म को पटकथा देशप्राण ‘लक्ष्मीधर शर्मा’ जो की एक लोकप्रिय कहानी पर आधारित थी।

(छ) सन् १९५५ई. मे फणी शर्मा जी ने ___में अभिनय के साथ इसे निर्देशित भी किया।

उत्तर : सन् १९५५ई. में फणी शर्मा जी ने ‘पियली फुकन’ में अभिनय के साथ इसे निर्देशित भी किया।

(ज) ‘भोगजरा’ नाटक ___पर आधारित था।

उत्तर : ‘भोगजरा’ नाटक ‘कुँवर विद्रोह’ पर आधारित था। 

(झ) भारत-विभाजन के आधार पर फणी शर्मा ने ___नामक नाटक लिखा।

उत्तर : भारत विभाजन के आधार पर फणी शर्मा ने ‘सिराज’ नामक नाटक लिखा लिखा।

(ञ) फणी शर्मा का देहावसान सन् ___ई. को हुआ। 

उत्तर : फणी शर्मा का देहावसान सन् १९७० ई. को हुआ।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Scroll to Top
adplus-dvertising